लड़कियों की फोटो दिखाइए

गुरुपौर्णिमा लेख मराठी

गुरुपौर्णिमा लेख मराठी, मेने उस टाइम तो और कुछ किया नही एक नज़र भर के अपने रूम में आ गया और बेड पे लेट गया. थोड़ी थकान भी थी और स्वेता के जाने का थोड़ा दुःख भी था. लेटे लेटे अपने आप ही दिमाग़ दीदी के बारे में सोचने आगा मेने सोचा कि दीदी ज़्यादा से ज़्यादा और कर भी क्या सकती है. मैंने अंजू को लेकर यहाँ आ गई . जब मैंने तुम्हारे मुँह से अंजू को बेटा कहते हुए सुना तो तो मेरा दिल खुश हो गया है.. अब सबसे बड़ी बात तुमने अंजू को बेटा मान लिया है तो क्या मेरे पेट मे जो पल रहा है.. उसका क्या होगा.

और मुझे शौकत से मोहब्बत हो गयी. मुझे मालूम पड़ा कि लुस्ट और लव में ज़मीन आसमान का फ़र्क है. तब मैने ये सोचा क्यूँ ना हम एक बार फिर लुस्ट का मज़ा लें और ऐसे मैने ये प्लान बनाया टीना भी कपड़े पहनकर बेड से नीचे उतरी। मगर टीना के पैर जमीन पर रखे नहीं जा रहे थे। टांगों में इस कदर अकड़ाहट हो रही थी। टीना को चूत में ऐसा लग रहा था जैसे उसकी चूत अंदर से छिल गई हो। टीना ने जैसे तैसे बेड की चादर सही की और बाथरूम में पहुंचकर थोड़ा फ्रेश हुई। इस दौरान अजय रूम में बैठा टीवी देखने लगा।

मैं:साला तुम्हारा लंड मेरी चूत मे इस तरहा फिट होता है जैसे किसी ग्लब्स मे हाथ फिट होता है, अगर मुझे तुम्हारा लंड ना मिलता तो मैं सोचती कि सेक्स के खेल मे कोई मज़ा ही नही है गुरुपौर्णिमा लेख मराठी मैं:ये तो हर औरत का अलग अलग मूड होता है, जैसे मुझे ये अच्छा लगता है कि पहले मेरी क्लाइटॉरिस को टिकल किया जाए

સુહાગરાત નો વીડીયો

  1. म...मैं अपने जीते जी ऐसा कभी नहीं होने दूंगा। उसके चेहरे पर एकाएक दृढ़ता आई थी। उसका चेहरा सख्त हो गया था हां, मेरी मौत के बाद तू जो चाहे कर सकता है?
  2. समीर सोचने लगा- नेहा भी किसी भी पल झड़ सकती है। एक-दो तेज धक्के मार दूं तो मैं भी नहीं रुक सकूँगा... और समीर का कंट्रोल भी खतम हो गया और ताबड़तोड़ धक्के लगा दिए थे। दोनों एक साथ झड़ गये। सेक्सी वीडियो चोदा चोदी चुदाई
  3. सोनल - और ज्यादा मत सोचा करो मम्मी, कल से काम में फिर से लग जाएगी न तो देखना रात को नींद कैसे आ गई पता ही नहीं चलेगा नेहा- वैसे एक बात कहँ, तू कपड़े भी तो ऐसे पहनती है की अच्छे-अच्छों की नजरें तुझ पर टिक जाय.. और नेहा ने एक हाथ से टीना की छाती पकड़ ली, और कहा- वाउ यार तेरे कितने हार्ड हैं..
  4. गुरुपौर्णिमा लेख मराठी...ये मझसे कैसी भूल हो गई? अगर किसी की नजर पड़ गई तो? और नेहा जल्दी से बाहर वाले रूम में पहुँचती है, और बेड के नीचे झाँक कर देखा तो अभी तक लण्ड वहीं पड़ा था- ओह गोड... तेरा शुकर है... फिर जल्दी से उठाकर अपने रूम में ले गई और अलमारी में छुपा दिया। नेहा भी अपने होंठों से समीर के होंठों की किसिंग करती रही। नीचे टीना लण्ड चूसने लगी, ऊपर नेहा होंठ चूसती रही। समीर भी अपने हाथों को खोलता है और नेहा की चूचियां सहलाने लगा। रूम में वासना की आग भड़क उठी, सिसकारियों से पूरा कमरा गूंज रहा था- हाँ आह्ह... हाँ आअहह... इसस्स्स... सस्स्सी ... उईईई..
  5. ह...हो सकता है मैं तुम्हारी इस चाहत के लायक ही न होऊं? यह भी हो सकता है कि मेरा यह जिस्म तुम्हारे लायक ही न हो? कोई दाग लगा हो सकता है इसमें? और लगभग उसकी कमर तक वो पहुँच चुका था वो धीरे से आरती के बिस्तर पर बैठ गया और आरती कि दोनों टांगों को अपने दोनों खुरदुरे हाथों से

सेक्सी व्हिडीओ घोड्याची

उधर आरति आज कार चलाने के लिए मनोज अंकल के स्कूल पहुच गयी थी। और अभी कार में मनोज अंकल के साथ कार में थी।

वो दोनो भी इस वक़्त यही काम कर रहे थे..और उन्हे एक ही बार मे सफलता भी मिल गयी, एक तो उसने अंदर ब्रा नही पहनी थी और उपर से उसके निप्पल आम लड़कियों के मुक़ाबले कुछ ज़्यादा ही मोटे थे...इसलिए नन्ही-2 चोंच सॉफ दिख रही थी. पर उसके मना करने के तरीके से पता चलता था कि वो चाहती तो थी पर क्यों मना कर रही थी पता नहीं उसके हाथ अब रवि के सिर और पीठ पर घूमने लगे थे

गुरुपौर्णिमा लेख मराठी,इस बात चीत के बाद हम मा बेटी दोपहर का खाना बनाने की तैयारी मे जुट गये. शाम को इनायत का फोन आया लेकिन मैं जितना ज़रूरी था उतनी ही बात की.

कमरे में रवि बिस्तर पर लेट चुका था शायद सो भी चुका था आरती बाथरूम की ओर अपने कपड़े चेंज करने को जाने लगी थी उसके हाथों में एक गाउन था जो कि रवि को बहुत पसंद था दो स्टीप से ही टंगा रहता था वो गाउन उसके कंधे पर और ए-लाइन टाइप की थी उसके ऊपर बहुत सुंदर और कसा हुआ सा लगता था

उस आदमी को भी ऐसी बातों में मजा आने लगा था, बोला- हाँ मेडम, ये ही ले लीजिए आप भी। लंबी में ज्यादा मजा आयेगा आपको चूसने में..सेक्सी फिल्म के वीडियो दिखाइए

मगर तब तक देर हो चुकी थी। संजना के हाथ के स्पर्श से ही अजय के लण्ड ने विकराल रूप धारण कर लिया था। संजना की आँखों में भी वासना की चमक आ गई। अजय भी संजना की आँखें पढ़ चुका था। इनायत ने जब अपना लंड साना की चूत से पूरा बाहर निकाला तो उसका लंड खून से भरा था. साना को ये देख कर हैरत सी हुई कि इतना खून कैसे निकला.

इतना बोलते ही दीदी वहाँ से जाने लगी मैं खड़ा हुआ ऑर दीदी को खिचकर अपने सीने से चिपका लिया. दीदी ने अपना मुँह मेरे सीने मे छुपा लिया मेरी पीठ पर अपनी दोनो बाहों को कसते हुए चिपक गयी. मैं दीदी की पीठ को सहलाने लगा.बहुत देर तक हम गले से लगे रहे कोई नही बोल रहा था.............................

तुम यहां से जाते हो इंस्पेक्टर या मैं तुम्हें धक्के मारकर यहां से बाहर फिंकवा दूं। जानकी लाल तमतमाकर बोला।,गुरुपौर्णिमा लेख मराठी अपनी पेंट की जीप तो वो खोल ही चुका था, और उसके लंड का उभार सिर्फ़ अंडरवीयर में क़ैद होकर सॉफ दिखाई दे रहा था..इस बार उसने अपने अंडरवीयर को नीचे खींचा और लंड को नंगा कर दिया...उसका काला नाग फ़ुफ़कारता हुआ सा सबकी नज़रों के सामने आ गया..

News