देहाती लड़की की सेक्सी

बीएफ सेक्सी विदेशी

बीएफ सेक्सी विदेशी, मेरी जान ! पहली बार थोड़ी बहुत तो तकलीफ़ तुझे बर्दास्त करनी ही होगी, बस एक बार चुदवा लेगी उसके बाद हमेशा के लिए तकलीफ़ अगर किसी वजह से भाईजान वापस आगये या मम्मी यह सोच कर के हम अकेले हैं आगई और शाहजी को यहाँ देखा तो मालूम नहीं

मैं- तो कल रात तुम इस आस में खारी बावड़ी गयी थी की तुम उन्हें देख सको क्योंकि तुमने सोचा की अगर वो मुझे दिखी तो तुम्हे भी दिखेंगी उसने भी चुदास से भरते हुए अपने लहँगे को पूरा बाहर ही कर दिया और अब वो भी पूरी नंगी हो गई.. मैं तो पहले से ही नंगा था।

करीब तीन घंटे मैंने वहा बिताये और इन तीन घंटो ने मेरा दम चूस लिया मैंने खुद को कोसा की साइकिल भी रख लेता तो वापिस जाने में दिक्कत नहीं होती सांझ तो हो ही गयी थी तो मैं टहलते हुए गाँव की और आने लगा रस्ते में पूजा का घर आया तो मेरे कदम अपने आप उस तरफ बढ़ गए घर के बाहर ही वो मुझे मिल गयी बीएफ सेक्सी विदेशी शाहजी के चेहरे को देख कर सॉफ पता चलता था कि वो सीधे साधे तरीक़े से डाइरेक्ट चोदने का इरादा ज़ाहिर करने से डर रहा है और उसकी गान्ड फट रही है.

ब्लू पिक्चर नंगी चुदाई वीडियो

  1. के घर पहुँचने से पहले अगर तुम्हारे घर वाले आ गये और तुम दोनो को घर मे नही देखा तो भांडा फूट सकता है. इस लिए तुम दोनो यहाँ
  2. कामिनी- मैंने कहा ना वो कमजोर लम्हे थे मेरे लिए जब तुम साथ थे उस समय मैं तुम्हे नहीं तुम्हारे अंदर हुकुम सिंह की छवि देख रही थी एक्स एक्स एक्स स्टूडेंट
  3. वो मेरे बगल में ही खड़ा था जिससे मुझे उसका खड़ा लंड मेरे मुंह के पास ही महसूस हो रहा था। जब मैंने नज़र उठा कर उसकी तरफ देखा तो वो मेरे मम्मों को घूर रहा था। मैं ने मुस्कुराते हुए कहा, मेरा जवाब सुन कर उसके चेहरे पर हैरत दौड़ गयी और वो अपना काम छोड़ कर मेरे पास आकर मेरे कंधे पर हाथ मार कर कहा,
  4. बीएफ सेक्सी विदेशी...ये राणाजी की गाड़ी थी मैंने अपनी गाड़ी उसकी तरफ मोड़ दी पर गाड़ी में कोई नहीं था कुछ दूर मुझे एक तिबारा सा दिखा तो मैं उस ओर बढ़ गया और मेरे आश्चर्य की सीमा नहीं रही जब मैंने मेनका और राणाजी को देखा पर उन्होंने मुझे देख कर कुछ खास तवज्जो न दी सच तो यह थी की ऐसे सीधे मुँह से तारीफ़ कविता के दिल को तेज़ धड़कनदायक कर चुकी थी और उसे मैं ही मैं अच्छी लगी l मनीषा ने ठान ली के अब तो कविता पर खुल्लम खुल्ला वार करेगी जब तक वह अपने असली गुप्त इरादों को उसके सामने न लाए l
  5. उसकी बातो में जो सादगी थी सीधे दिल में उतरती थी बहुत अच्छा लग रहा था उसके साथ बाते करके जैसे की बस... अब मैं कहू तो क्या कहू मैं निचे बैठ गया और भाभी कुर्सी पर बैठे हुए मेरे सर को दबाने लगी तो कुछ आराम सा मिला मैं सोचने लगा की भाभी को उसके बारे में बता दू या नहीं

दिल्ली सेक्सी वीडियो एचडी

मुझे हद से ज्यादा शर्मिंदगी महसूस हो रही थी जी कर रहा था की अभी मर जाऊ या मार दू पर पूजा ने मेरे पैरो में अपनी कसम की बेडिया डाल दी थी अंगार की वो हसी मेरे कलेजे को चीर रही थी पूजा बस शांत खड़ी थी उसने अपना हाथ पूजा के चेहरे पर लिपटे दुपट्टे की और किआ मैं बीच में आ गया

शायद अब सही समय आ गया था की खुल कर सवाल जवाब कर ही लिए जाये मैं हल्के कदमो से चलते हुए अपने आप से सवाल जवाब कर रहा था की मेरी उंगलिया दिवार के एक कोने से जा लगी, तो कुछ गीला गीला सा लगा जैसे शायद पानी हो या कुछ उमस सा सीलन जैसा कुछ कच्ची सड़क से थोड़ी दूर एक पेड़ था मैं उसके पास जाकर बैठ गया भाभी का कहा प्रत्येक शब्द मेरे कानो में गूँज रहा था बल्कि यु कहु की किसी चाबुक के वार सा लग रहा था उनको मैंने हमेशा हँसते मुस्कुराते देखा था पर क्या मालूम था इस घर में सब नकाब ओढ़े है कोई शराफत का तो कोई मुस्कराहट का

बीएफ सेक्सी विदेशी,अजय : मुझे अच्छी तरह मालूम हैं माँ के आप मुझसे कहीं बार अपने वासना और प्रेम का इज़हार करना चाहती थी लेकिन हिम्मत नहीं जुटा पाई (माँ के चेहरे को सहलाता हुआ) लेकिन अब रुके भी तो कब तक! ठहरे भी तो कब तक! नहीं माँ नहीं! एक विधवा होने का इतनी बड़ी सज़ा खुद को मत दो!

पीछे से मेरे ऊपर सवार शाहजी अपने दोनो हाथो को मेरे जिस्म के नीचे से लाकर नजमा की दोनो चुचियों को पकड़ कर मेरी गान्ड मारता

यार लड़के को फाँसना कोई मुश्किल नही मगर ये बता कि दो दो लड़कियाँ तुझे कहाँ से मिल गईं ? मुझे लड़कियों के बारे मे करमू की कही हुई बात पर यक़ीन नही आ रहा था.हिंदी एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियो

मालविका मेरे मोबाइल पर गेम खेलने में लगी हुई थी। शीतल उसे कई बार मोबाइल वापस करने को कह चुकी थी, लेकिन मैं हर बार यहीं कहता- खेलने दो शीतल, बच्ची है वो। ज्योति दीदी – वाह सतीश तुम तो अब चोदने मे एक्स्पर्ट को चुके हो। मेरी बुर में अब लहर आ रही है, तुम अब अपना माल झाड़ दो।

आपसे बहुत प्यार करता हूँ मैं; आप जब भी पास आते हैं, तो आपकी साँसों और आपकी खुशबू से मुझे पता हो जाता है। - मैंने कहा था।

बेटा, मेरा अनुभव आपसे काफी ज्यादा है। यह बातें किसी और से कहना... सब समझ रहा हूँ। जब तय कर ही लिया है, तो शादी भी करके आ जाते, ये मिलवाने का नाटक ही क्यों कर रहे हो?- पापा ने कहा।,बीएफ सेक्सी विदेशी आहह अब्बे शहाब ऊऊफ़फ्फ़ तेरी बेहन की चूत का जवाब नही है, साली की चूत इतनी टाइट है कि मेरा लंड ज़रूर छिल गया होगा, फिर वो नजमा के होंठो को चूम कर उसे कहा, मेरी जान पहली बार चुदवाते हुए हर लड़की को तकलीफ़ होती है, बस एक बार मेरे पूरे लंड को

News