एक्स एक्स एक्स मारवाड़ी बीपी

चाचा चाची चुदाई

चाचा चाची चुदाई, मे – इब थारे को कैसे विश्वास दिलाऊ भाभी… सच में धक्का घना ही जोरे का था… तो वो मुस्करा उठी.. और बोली.. कोई ना.. यो सब चले भीड़ में.. मे – इब थारे को कैसे विश्वास दिलाऊ भाभी… सच में धक्का घना ही जोरे का था… तो वो मुस्करा उठी.. और बोली.. कोई ना.. यो सब चले भीड़ में..

उसने अपनी गर्दन झुका ली जैसे कहना चाहती हो की हां.. मे तुम्हें पसंद करती हूँ लेकिन मुँह से कुच्छ नही कहा. अभी मे बीच में ही पहुँचा था कि मेरे पास ही पानी के अंदर वो दिखाई दी, किसी सुनहरी जलपरी सी, एक छोटी सी ब्रा और पेंटी में.

अब मैने उसकी चोली खोल कर एक ओर फेंक दी, बिना ब्रा के उसके गोल-2 सुडौल बूब, एक दम इलाहाबादी अमरूद जैसे लग रहे थे, चाचा चाची चुदाई उनके गिरते ही मैने फटाफट उनके कान के पीछे की नस जो नर्वस सिस्टम को कंट्रोल करती है दबा दी जिससे ये अश्यूर हो गया कि अब वो पलट कर मुझ पर अटॅक नही कर सकते.

मुंबई एक्स व्हिडिओ

  1. लेकिन कुछ दिन पहले आपके ही किसी दुश्मन ने यहाँ आकर हमारे इनस्पेक्टर को खबर दी कि ये काम अकेले अरुण ने किया है.
  2. मैने फ़ौरन शाकीना के मुँह को अपने लंड से दूर किया और आइशा को सोफे पर डाल कर उसकी चूत को चाटने लगा, वो अपनी कमर को उचका-2 कर मेरे मुँह पर घिसने लगी. ओपन ब्लू सेक्स वीडियो
  3. मैं : क्या जानू.. बस तीन चार ही दिनों की तो बात है! मैं आ जाऊँगा! .. और फिर, मुझे ये डेयरी भी तो खाली करनी है! न्यूट्रीशन!! हेह हेह! मैने कहा - डार्लिंग मेरा बाबू परेशान है अंदर उसको थोड़ा खुराक तो दो, तो वो मेरी ओर देख कर एक दर्द भरी मुस्कान के साथ बोली- अब क्या करूँ..?
  4. चाचा चाची चुदाई...क्या मुझे उसकी छेड़खानी पसंद आने लगी है. हाउ डिज़्गस्टिंग... ऐसा नही हो सकता. कहाँ वो बदसूरत देहाती और कहाँ मैं. मैं बोखला उठी. मैने मन ही मन ठान लिया की गगन के सामने हर हाल में उसका पर्दाफाश करके रहूंगी. मैं इन विचारो में खोई थी कि दरवाजे पर दस्तक हुई. मैने एक बार और उसका फोन ट्राइ किया तो इस बार रिंग बजने लगी, 4-5 बार रिंग बजने के बाद उधर से फोन पिक कर लिया गया.
  5. दूसरे दिन सुबह 9 बजे वो नौजवान शहर से हाइवे की ओर जाने वाले एक चार रास्ते के पास खड़ा, रुखसाना का इंतजार कर रहा था. वो पिच्छली सीट पर पसर जाता है, ड्राइवर की बगल वाली सीट पर कमॅंडो के बैठते ही गाड़ी पोर्च से चल देती है और विशालकाय बिल्डिंग के बड़े से हरे-भरे ग्राउंड को पार करती हुई मेन गेट से निकल कर राजधानी की चौड़ी सड़कों पर दौड़ने लगती है.

पुरानी हवेली पिक्चर वीडियो

उसकी खबर के मुतविक चौधरी आंड कंपनी प्रताप के घर पर ही मेले का प्रशारण टीवी पर देखते हुए जश्न मनाने की तैयारी में थे…

वो मुझे ही घुरे जा रही थी जब मैने उनकी ओर देखा तो वो बोली- भाई साब आपने उस दिन की मेरी बात का जबाब अभी तक नही दिया…! उत्तर में उसने मेरे दोनो कान पकड़ लिए और मेरे होठों को मुँह में भर कर चूसने लगी और अपनी कमर को तेज़ी से आगे-पीछे करने लगी.

चाचा चाची चुदाई,अभी एसपी साहिबा को यहाँ आए हुए 2-3 महीने ही हुए थे, आइपीएस की ट्रैनिंग के बाद यहाँ इनकी पहली पोस्टिंग थी एसपी के तौर पर.

दूसरी सुबह रूम सर्विस चाइ के साथ अख़बार दे गया था, मैने अख़बार शाकीना की ओर बढ़ा दिया वो उसे पढ़ने लगी, आज की हेडलाइन ही फ़ौजियों की किल्लिंग से थी, जिसमें फोटो के साथ-साथ बड़ी सी न्यूज़ दी गयी थी.

मे - देखो ! जैसे यहाँ एक बार कुछ फ़ौजी आए, उन्होने दहशत फैलाई, आप लोगों को पकड़ कर ले गये, ऐसे ही किसी मौके का यहाँ बैठ कर इंतेज़ार करना और फिर उन पर हमला करना ये हमारी बहुत बड़ी भूल होगी.सपना चौधरी का सेक्स फोटो

अहिंसा के पुजारी हैं हम लोग लेकिन देश के लिए जान देना भी जानते हैं तो जान लेना भी जानते हैं. ज़य जननी. अरे! मेरा मतलब है की शलवार कुरता पहन कर आओ। चलने फिरने में आसानी रहेगी। हाँ, मुझे आप शलवार कुर्ते में ज्यादा पसंद हैं …. मैंने उसको आँख मारते हुए कहा।

मैंने जैसे ही उस पर हो रहे अत्याचारों की सूची कुछ जोड़ना चाहा तो रश्मि ने बीच में ही काट दिया, छीह्ह! आपकी सुई तो वहीँ पर अटकी रहती है।

उसने दरवाजे के कीहोल से अंदर देखने की कोशिश की, लेकिन उस पर भी अंदर से परदा होने के कारण कुछ दिखाई नही दिया.,चाचा चाची चुदाई वो तड़प कर मेरे सीने से लिपट गयी और बोली – आहह... ये भी अब तुम्हारी अकेले की नही है, इसका कुछ हिस्सा तो हम दोनो माँ-बेटी का भी है. मुझे तो इसका भाई चाहिए..! दोगे..?

News