ब्लू सेक्सी फिल्म दिखाओ हिंदी में

मूवी सेक्स ब्लू

मूवी सेक्स ब्लू, कहीं उसके बाप को मालूम तो नही चल गया कि ,निशा और मेरा चक्कर चल रहा है...यदि ऐसा हुआ तो फिर मेरा तो उपरवाला ही मालिक है... यही एक ऐसा सवाल था, जिसका आन्सर देने के लिए मैं हमेशा तैयार रहता था, लेकिन उस वक़्त मुझे ये नही मालूम था कि यही सवाल मेरी ज़िंदगी का आख़िरी सवाल बन जाएगा, जिसका आन्सर मैं बाद मे देना चाहूँगा....

अरमान भाई..आप फिक्र मत करो...एक बार मैं राजश्री खा लूँ,उसके बाद तो कोई माई का लाल मुझे हरा नही सकता... मैं आगे भी बहुत कुछ सोचता यदि गौतम के मोबाइल की रिंग ना बजी होती, जनरली कॉलेज मे सभी अपना मोबाइल साइलेंट ही रखते थे,लेकिन उस उल्लू ने ऐसा नही किया हुआ था...उसने कॉल रिसीव की और फिर एश की तरफ इशारा करते हुए बोला कि उसे जाना पड़ेगा.......

जिनके घर तूफान मे तबाह हो जाते है और जब वो दोबारा अपना घर बासाते है तो मेरे ख़याल से उनके दिल और दिमाग़ मे उस तूफान का डर बैठा रहता है कि कही एक बार फिर से कोई तूफान आकर उनके घर को बर्बाद ना कर दे...ये डर उनके जेहन मे ज़िंदगी भर के लिए बैठ जाता है की कही फिर से कोई आँधी और तूफान ना आ जाए... मूवी सेक्स ब्लू एस.पी. आ गया है, सब लोग उसके सामने अपनी गर्दन झुका कर खड़े रहना और सिर्फ़ मुझे ही बात करने देना...अपनी जगह पर खड़ा होते हुए सौरभ बोलाऔर अरमान तू ,सबसे पीछे रहना...

बीएफ हिंदी फिल्म

  1. भू ने भी हमारे साथ कॉलेज के अंदर एंट्री मारी थी और उसी ने शायद अरुण से कहा था कि वो मुझे फॉर्म लेने के लिए भेजे....
  2. लेकिन इस बीच यदि कोई आ गया तो...उस वक़्त मैं दीपिका मॅम की आँखो मे ये झाँकने की कोशिश कर रहा था कि वो करना क्या चाहती है... मोटी औरत की बुर की चुदाई
  3. आज सीसी की लॅब थी बोले तो विभा मॅम की और जब हम सीसी की लॅब मे पहुँचे तो विभा वहाँ पहले से मौजूद थी और साथ मे एक असिस्टेंट भी था..... साला कितनी अच्छी लाइफ चल रही थी लेकिन अरुण के एक किस ने सब कुच्छ ख़तम कर दिया, यदि मैं उस दिन गौतम को नही मरता तो ये नौबत ही नही आती...
  4. मूवी सेक्स ब्लू...बोल तो ऐसे रहा है ,जैसे कभी मूठ ही ना मारी हो....वो वापस सामने वाली चेयर पर बैठ गयी और अपने सामने रखे डेक्सटॉप पर कुछ करने लगी.....उसके बाद कुछ देर तक वो उसी मे बिज़ी रही और फिर बोली... वैसे अरमान, कुच्छ लड़को के मुँह से सुना कि आंकरिंग मे तेरे साथ एश है....ग़ज़ल के सुर और मेरे सुर मे बेसुरा राग घोलते हुए अरुण ने अपनी टाँग अड़ाई...लेकिन उसने एश का नाम लिया तो मैं रूम के नशे और जगजीत साब के ग़ज़ल मे और रम गया...
  5. ओके, देन आज से पढ़ाई शुरू.....मैं वहाँ से उठकर रूम से बाहर आया और किसी लेटेस्ट न्यूज़ की तालश मे (स्पेशली एश) भू के रूम मे घुसा... ज़रूर मेरे कॉल रिसीव करते ही ये मुझे पर टूट पड़ेगी की मैं कहाँ हूँ, क्या कर रहा हूँ...प्रॅक्टीस मे क्यूँ नही आया...मैं इतना लापरवाह क्यूँ हूँ....ब्लाह...ब्लाह

ભાભી નો whatsapp નંબર

देख एक काम कर...चुप चाप काल्टी हो जा...वरना वो बम्बू पूरा का पूरा अंदर डाल दूँगा,एक इंच भी बाहर नही रहेगा...और यदि तू फिर भी नही माना तो तेरे शर्त के 2000 भूल जाना...

उसने मेरी ओर करवट ले ली और मुझे देखने लगी जबकि मैं अपनी सांसो पर काबू पाने का प्रयास कर रहा था. . आख़िरकार, जब मैं खुद पर नियंत्रण पाने में सफल हो गया, वो मुस्कराई, मेरे होंठो पर एक नरम सा चुंबन अंकित कर उसने पूछा: तो, कैसा था? कैसा लगा तुम्हे? ओके...अब चल,छत्रपाल के पास चलते है...आंकरिंग तो हम दोनो ही करेंगे,फिर चाहे मुझे बाकी ग्रूप वालो का खून ही क्यूँ ना करना पड़े...लेट'स गो बेबी

मूवी सेक्स ब्लू,गौतम...मुझे मालूम है कि तुम्हारी टीम बहुत अच्छी है,लेकिन शायद तुमने कल के मॅच मे आख़िरी के 20 मिनिट्स के खेल को ध्यान से नही देखा....मैने इस तरह का गेम,जो कि अपने आप मे एक अजीब है, कभी नही देखा...ही ईज़ वेरी टॅलेंटेड प्लेयर...

रोल नंबर. क्या है...एक ग्लास पानी अपने गले से नीचे उतारने के बाद उन्होने पुछा और जब मैने उन्हे अपना रोल नंबर. बताया तो बोलेपढ़ने मे अच्छे हो...

मुझे पूरी उम्मीद थी कि दीपिका मॅम ने मुझे नही देखा था, और मैं अपनी स्मार्टनेस पर खुद को प्रेज़ करता हुआ वहाँ से जा ही रहा था कि दीपिका माँ ने पीछे से आवाज़ दी...बीपी बीपी बीपी वीडियो

दारू पीने से बहुत सारे नुकसान होते है ये मैने कही पढ़ा था ,लेकिन दारू पीने से फ़ायदा क्या होता है ये मुझे मालूम था.दारू पीने के बाद सबसे बड़ा फ़ायदा जो मुझे होता है वो ये कि मुझे फिर किसी का डर नही रहता चाहे वो मेरे थाइ के बराबर बाइसेप्स रखने वाले बार के बाउन्सर ही क्यूँ ना हो.... माइसेल्फ भू...विभा का हाथ अपने हाथो मे थामकर भू ने जवाब दियाविभा, वो दोनो मेरे दोस्त है...अरुण आंड अरमान...

सर, मेरा एक सवाल है...कुछ दिन पहले मैने पढ़ा था कि कुछ पार्टिकल ऐसे भी है जिनकी वेलोसिटी लाइट के वेलोसिटी से भी तेज है और यदि ऐसा है तो फिर आइनस्टाइन का प्रिन्सिपल ग़लत हो गया , आप क्या कहते है इस बारे मे....

ये कहीं ये ना सोच ले कि हम दोनो इसे लाइन दे रहे है...मैने पेन पकड़ा और टीचर जो लिख रहा था उसे छापते हुए बोला....,मूवी सेक्स ब्लू कोई सा भी दे दे खिसियाते हुए मैने कहा ,जिसके बाद मेडिकल वाले ने सॅट्ट से कॉंडम का एक पॅकेट निकाला और झट से मुझे दे दिया....

News