राजधानी चार्ट दिखाइए

चूक भूल द्यावी घ्यावी

चूक भूल द्यावी घ्यावी, तभी निशा की नज़र घड़ी पर गयी. यह सब के चक्कर मे सुबह के तीन बज चुके थे. निशा हड़बड़ाते हुए बोली, ओह्ह माइ गॉड करण...मेरे मम्मी पापा 6 बजे की फ्लाइट से वापस आ जाएँगे....अब मैं क्या करू...अब मैं क्या करू... मैंने उसका चेहरा अपनी हथेलियों में लिया और उसके आँखों को चूमकर बोला,बस प्रिया… यह आखिरी दर्द था… थोड़ा सा सह लो… अब सब कुछ ठीक हो जायेगा… अब तो बस मज़े ही मज़े हैं।

को इसलिए कह रहा है कि रात को मेरी चूत को आराम से सहला सके, सच तो यह था कि पायल की चूत भी यह सब सोच कर आपने मुझे बताया था क्या, मैं उसे बहुत प्यार दूंगा दीदी अपनी जान से ज्यादा इसे प्यार करूंगा यह मेरे और आपके प्यार की निशानी है… हम दोनों की आंखों में आंसू थे और हम दोनों इस बच्चे को देख रहे थे…..

जल्दी आईएएगा. मे बोली, आप को रीमा के साथ बाजार जाना है, सासू जी ने बोला है कि इन लोगों के लिए कपड़े लाने के लिए. चूक भूल द्यावी घ्यावी काजल ने अपना सर पीट लिया, अब भी वही रट लगा रखे हो...बोला ना पुरानी यादो को भूल जाओ...अभी माँ को हम सब की ज़रूरत है...देखते है आख़िर आचार्य जी कल हम से क्या कहते है...तब तक के लिए प्लीज़ सो जाओ... और फिर करण को बोलते हुए, सॉरी कारण भैया...मैं अर्जुन भैया की तरफ से आपसे माफी मांगती हू...

नंगी बीपी सेक्स

  1. इतना चिकना जिस्म करण ने आज तक नही देखा था. निशा पर रोए या बाल के नामो निशान नही थे, पर बगल (आर्म्पाइट) मे निशा के बहुत बाल थे. निशा ने जब देखा तो थोड़ा शर्मा गयी और बोली, आइ आम सॉरी...मुझे पता नही था कि आज हम सुहाग रात मनाएँगे नही तो मैं इन बालो को शेव कर देती...
  2. निशा -अपनी नज़रे फिर से रवि की ओर करके उसका मुँह देख कर उसके अगली बात का इंतजार करने लगती है, जब रवि आगे कुछ नही कहता है तो लड़की की ब्लू फिल्म दिखाओ
  3. जाओ उस नयी लड़की को ले आओ...बलि का वक़्त आ गया है... त्रिकाल शेर की तरह दहाड़ा. उसके आदेश पर उसके कुछ शिष्य अंदर एक कोठरी से एक लड़की को बाहर ले आए. वो लड़की कोई और नही सलमा थी और वह भी पूरी नंगी. शाम को जब मे घर लौटी तो मेने वो अवॉर्ड बसंती को दे दिया और कहा कि वो उसके मालिश का नतीजा है. उसने खुश होके मुझे गले लगा लिया और चिढ़ाते हुए बोली,
  4. चूक भूल द्यावी घ्यावी...तभी उन्होने कहा अरे क्या घूर रहा है मुझे ..अपनी पायल दीदी को घूर ना ....अपनी आँखों में बसा ले अछी तरह ........ और हँसने लगीं .... करण ने झल्लाते हुए अपना हाथ खीच लिया, कितनी प्यास लगती है तुमको...कल ही दो बार चोद चुका हू...फिर से आज तुम्हारी चूत गीली हो गयी....अब मैं क्या करू..दो दो लंड उगा लूँ क्या... करण ने गुस्से मे आकर कह तो दिया लेकिन उसे अगले ही पल अपनी ग़लती का एहसास हो गया.
  5. यह ले उन 107 लड़कियो के नाम जिन्हे तूने अपने काले जादू के नाम पर उनका बलात्कार कर के उनको मौत के घर उतार दिया... गुर्राते हुए कारण अर्जुन ने एक साथ जोरदार लात त्रिकाल की छाती पर मारी जिससे उसके मूह से भी खून निकलने लगा. इस्सस… आंटी ने सवाल सुनते ही बिजली की फुर्ती के साथ अपना सर मेरे सीने से हटा लिया और एक पल के लिए मेरी आँखों में देख कर अपना चेहरा घुमा लिया।

इंग्लिश में वीडियो सेक्सी

काजल ने आल्बम खोला तो उसकी आँखो मे खुशी के आँसुओ की दो बूँदें छलक आई. वो आल्बम उसकी माँ रत्ना और उसके परिवार का था. उस आल्बम मे रत्ना, उनके स्वरगवासी पति हर्षवर्धन राठौड़ और उनके दो छोटे छोटे प्यारे बच्चे अर्जुन और काजल की तस्वीरें थी.

खुशी से वो तुरंत दरवाजे की ओर मूडी,तो मैं हंस के बोली, अर्रे भाभी जी सारी तो पहन लो वरना हंस के वो फिर वापस मूडी. थोड़ी देर मे वो सिर्फ़ खाना ले आई बल्कि अपने हाथ से खिलाया भी . मेरी नज़र तो वहीं टिक सी गई थी लेकिन फिर मुझे पप्पू के होने का एहसास हुआ और मैंने अपनी नज़रें उसके उभारों से हटा दी।

चूक भूल द्यावी घ्यावी,उफफफफफफफफफफ्फ़ ...इस दो तरफे हमले से मैं मदहोश था ..मेरा दीदी के आर्म्पाइट चाटने की स्पीड बढ़ गयी और उनकी चूत पर उंगलियाँ भी और तेज़ चलने लगीं

काफ़ी देर तक हम लोग एक दूसरे की बाहो मे पड़े रहे. मेने जब नीचे की ओर देखा तो पहली बार आज शेर सो रहा था और उसके जगाने का चांस भी कम लग रहा था. सेड टेबल मे रखी मिठाइया वो मुझे खिला रहे थे. मैं उन्हे. (ये मुझे बाद मे पता चला कि उनमे भी वही चीज़े थी जो दूध और पान मे थी).

वो नाम सुनते ही मैं हिल गया मैं कभी खुद को तो कभी उसको देखता अजीत सिंह गांव के सरपंच थे और बड़े ही नीच किस्म के इंसान थे , मक्कारी में उनका कोई सानी न था शायद ही कोई काण्ड बचा हो जो उसने किया न होएक्स एक्स एक्स हिंदी में मूवी

कुच्छ देर गुफा मे चलते चलते वो एक पुराने महल नुमा जगह मे आ गये. गुफा के अंदर हवेली...और वो भी इतना अंदर...कॉन रहता होगा यहाँ... करण ने अपने मन मे सोचा. 'वाह वाह मेरे भाई को प्यार हो गया,'मैं थोडा शर्मा गया 'क्या पता भाई अभी तो कुछ नहीं बोल सकता ,आज ही तो देखा हु उसे,उसकी वो प्यारी बाते वो आँखे'मैं फिर खोने लगा की राहुल ने मुझे टोक दिया ,

को अपने सीने के पास सटा लिया, पायल अपनी आँखे फाडे रवि के चेहरे को देख रही थी और रवि अपनी दीदी के गुलाबी गालो,

का मॅचिंग ब्लाउज, साडी को अपने उठे हुए पेट और गदराए पेट की गहराई मे घुसी हुई नाभि के काफ़ी नीचे बाँधे, अपनी,चूक भूल द्यावी घ्यावी 'दीदी मेरे दिमाग में चल रहा था की दीदी की चुद ,बस यही बात बार बार अभी भी वही चल रही है ,हलके हलके ,सॉरी दी दी 'मैंने सॉरी कहा ही था की दीदी ने मेरे होठो पर अपने हाथ रख दिया

News