बीएफ सेक्सी में हिंदी

पानीपुरी का पानी कैसे बनाते हैं

पानीपुरी का पानी कैसे बनाते हैं, उनके जाते ही मम्मी से नही रहा गया. वो मुझसे पूछने लगी, बोल क्या बात हुई. तुझे पसंद किया या नही. तूने कुछ पूछा, शादी के लिए राज़ी है ना. पप्पू ने अब वो किया जिसकी कल्पना शायद रिंकी ने कभी नहीं की थी, उसने रिंकी की रस से भरी चूत को पैंटी के ऊपर से चूम लिया।

और फिर दीदी ने झट अपनी ब्लाउस और ब्रा उतार दी , मेरे सर अपने हाथों से थामते हुए अपने सीने से चिपका लिया ..मेरा चेहरा उनकी गुदाज , कड़ी पर फिर भी मुलायम चूचियों में धँस गया ...... कारण- अबे तेरे लिए मेने सब तैयारी पहले से कर रखी है, और अलमारी मे रखी वोड्का की बोतल दिखाते हुए वह देख

ओह्ह माइ गॉड यह सिग्नल तो मध्य पदेश और छत्तीसगढ़ बॉर्डर के जंगली इलाक़े से आ रहा है...हे भगवान सलमा मुंबई से इतनी दूर कैसे पहुच गयी... अर्जुन अपने फोन पर सलमा के आइफ़ोन का लोकेशन देखते हुए बोला. पानीपुरी का पानी कैसे बनाते हैं 'क्या कर रहा है,हट यहाँ से पागल हो गया है क्या,'अचानक मुझे मेरी स्थिति का आभास हुआ मैंने अपना हाथ तो हटा लिया पर हटा नहीं 'दि प्यार करने दो ना प्लीज

हरियाणवी की चुदाई

  1. मैने उन्हें अपने से और भी बूरी तरह चिपका लिया और ....दीदी दीदी ... का चीत्कार करते हुए उनके हाथ में अपनी पिचकारी छ्चोड़ दी....
  2. कुच्छ देर गुफा मे चलते चलते वो एक पुराने महल नुमा जगह मे आ गये. गुफा के अंदर हवेली...और वो भी इतना अंदर...कॉन रहता होगा यहाँ... करण ने अपने मन मे सोचा. सेक्स जंगल में मंगल
  3. मैं- जब कभी पानी देना होता है रातो में तब भी तो यहाँ रुकता हु न और सच कहूं तो घर पे ताऊजी की वजह से मैं जाना नहीं चाहता पायल- अपने मन मे, तू तो इतना बड़ा कमीना है कि तू तो भाभी की फोटो देख कर उसे अपनी आँखो से ही चोद चुका होगा
  4. पानीपुरी का पानी कैसे बनाते हैं...लेकिन यह क्या पायल को अपने भाई की इस हरकत पर नाराज़ होना चाहिए था लेकिन उसके चेहरे पर तो एक जलन के भाव उभर 'प्लीज आप मेरी फोटोज मुझे वापस कर दीजिये,मैं अच्छे घर की लड़की हु ,मुझे बर्बाद मत करो,'लड़की जोर से रो ही पड़ी,परमिंदर को उसका रोना बहुत भाया उसने उसके उजोरो को खूब ताकत से मसला लड़की के मुह से चीख सी निकल पड़ी,और उसका रोना और बड गया,
  5. हां किशू .... बस ऐसे ही मन लगा कर पढ़ .....अच्छा चल अब खाना खा ले ..देख अभी वहाँ बुआ और माँ भी हैं ..कुछ ऐसी वैसी हरकत मत कर बैठना ..... जब हम बाहर कमरे मे आए, तो मेने देखा कि बिस्तर पे मेरी ब्रा, पैंटी खुली हुई वैसलीन की शीशी .और सफेद चादर पे बड़ा सा धब्बा और ये दोनो लड़कियाँ यही बैठी थी. मेने झट से उन्हे हटाया.

बूढ़ी आंटी का सेक्स

'भाई भाई क्या हुआ क्या हुआ,'मैं भी अपने को सम्हाला मुझे समझ आया की ये महज विचार ही थे ,मैंने दीदी को सम्हालते हुए उन्हें अपने ठीक होने का दिलासा दिलाया ,थोड़ी देर में हम दोनों नार्मल हो गए ,

बबिता मुझसे और चिपकती मेरे कानो में बोली, अछा है थोड़ा अंधेरा हो गया. मेने उसे और कस के अपनी बाहों में ले अपने होठ उसके होठों पे रख दिए. उसने भी सहयोग देते हुए अपना मूह खोल दिया और जीभ मेरे मुँह में डाल दी. हम दोनो एक दूसरे की जीभ चुभलने लगे. राहुल और मैं स्कूल से अपने घर आते है ,हमें जोर की भूख लगी थी तो हम किचन में चले जाते है,मेरी मम्मी कही दिखाई नहीं दे रही थी शायद वो पड़ोस वाली आंटी के घर गयी होंगी जैसा वो हमेसा जाती थी ,हम किचन में ही बैठकर रोटिय खाने लगे की हमें जोर से हँसाने की आवाजे आने लगी हमें देखा की ये तो दीदी की आवाज है,

पानीपुरी का पानी कैसे बनाते हैं,मेने नापा तो नही पर जो आपने अंत मे बताया था.. बस थोड़ा सा और हो सकता है.मुझे भाभी को जलाने और चिढ़ाने मे मज़ा आ रहा था.

क्या मेरी गान्ड आपकी बीवी निशा से भी ज़्यादा टाइट है... मोहिनी फिर चिल्ला के बोली ताकि निशा यह सब सुन सके.

'भाई वो तो मैंने फेक दि डस्टबिन में 'मैं उसे घुर के देखता हु वो मुझे आँखों से ही सॉरी कहता है की मेरे चहरे पर एक मुस्कुराहट आ जाती है और मै राहुल को इशारा करता हु वो बहार जाता है,वीडियो बीपी गुजराती

रवि से रहा नही गया और वह बाथरूम मे जाकर पूरा नंगा हो गया और अपनी दीदी की उतरी हुई ब्रा और पेंटी को अपने 'मनीष ....'दीदी के आवाज में एक रुदन था जैसे किसी ने दिल ही चिर दिया हो ,उनकी आवाज सुनकर मेरे जेहन से एक हाय निकल गयी ,

बहुत माँ मै कितने सालो कर चुदायी के मजे से दूर था और अपना लंड हिला कर मजा लेता था आज मुझको पता चला की असली मजा कया है। मैं बहुत खुश हूँ कि तुझको मजा आया चल अब आजा बैठ कर आराम करते है तू भी इतनी देर महेनत करके थक गया होगा। फिर मैं जाकर सोफे पर बैठ गया और रीमा आकर मेरी गोदी मे बैठ गयी।

हाँ, आइ मीन एनितिंग. मैं भी हंस के बोली. और हाँ एक बात और जो इस लड़के को अच्छा लगता है न वो मुझे भी बहुत अच्छा लगता है.,पानीपुरी का पानी कैसे बनाते हैं और ये दाव भी मैं जीत गयी. हालाँकि अबकी बार मुझे थोड़ी मेहनेत भी करनी पड़ी,लेकिन मेरे लंबे नाख़ून काम मे आए और अंगूठी ऑलमोस्ट उनकी मुट्ठी मे जाते जाते बची. आख़िर मेरे भाइयो का सवाल था.

News